Wednesday, 15 February 2012

राजस्थान के इतिहास की प्रमुख घटनाएं - प्रारंभ से चौदहवीं शताब्दी तक


वर्ष
महत्तवपूर्ण घटना
5000 ई.पू.
कालीबंगा सभ्यता
3500 ई.पू.
आहड़ सभ्यता
1000-600 ई.पू.
आर्य सभ्यता
300-600 ई.पू.
जनपद युग
350-600 ई.पू.
गुप्त वंश का हस्तक्षेप
551 ई.
वासुदेव चौहान द्वारा सांभर (सपादलक्ष) में चौहान राज्य की स्थापना
728 ई.
बप्पा रावल द्वारा चित्तौड़ में मेवाड़ राज्य की स्थापना
967 ई.
कछवाहा वंशी धोलाराय द्वारा आमेर राज्य की स्थापना
1018 ई.
महमूद गजनवी द्वारा प्रतिहार राज्य पर चढाई एवं विजय
1031 ई.
दिलवाड़ में आदिनाथ मंदिर का निर्माण विमलशाह ने करवाया
1113 ई.
अजयराज द्वारा अजमर (अजयमेरु) की स्थापना
1137 ई.
कछवाह वंश के दुलहराय ने ढूंढार राज्य की स्थापना
1156 ई.
राव जैसलसिंह द्वारा जैसलमेर की स्थापना
1191 ई.
तराईन का द्वितीय युद्ध - पृथ्वीराज व मुहम्मद गौरी के मध्य, पृथ्वीराज विजयी
1192 ई.
तराईन का तृतीय युद्ध - पृथ्वीराज व मुहम्मद गौरी के मध्य, मुहम्मद गौरी की विजय
1195 ई.
मुहम्मद गौरी द्वारा बयाना पर आक्रमण
1213 ई.
जैत्रसिंह मेवाड़ में गद्दीनसीन
1230 ई.
दिलवाड़ में तेजपाल व वास्तुपाल द्वारा नेमिनाथ मंदिर का निर्माण
1234 ई.
रावत जैत्रसिंह द्वारा इल्तुतमिश पर विजय
1237 ई.
रावत जैत्रसिंह द्वारा सुल्तान बलबन पर विजय
1242 ई.
राजा हाड़ा देशराज द्वारा बूंदी राज्य की स्थापना
1291 ई.
हम्मीर द्वारा जलालुद्दीन का आक्रमण विफल करना
1301 ई.
हमीर द्वारा अलाउद्दीन खिलजी के आक्रमण को विफल करना, षड्यंत्र द्वारा पराजित, रणथम्भौर के किले पर 11 जुलाई को तुर्की अधिकार स्थापित
1302 ई.
रत्नसिंह गुहिलों के सिंहासन पर बैठा
1303 ई.
राणा रतनसिंह अलाउद्दीन खिलजी के हाथों परास्त, चित्तौड़ पर खिलजी का अधिकार, चित्तौड़ का नाम परिवर्तीत कर खिज्राबाद
1308 ई.
कान्हड़देव चौहान खिलजी से परास्त, जालौर पर खिलजी का अधिपत्य
1326  ई.
राणा हमीर द्वारा चित्तौड़ पर पुनः शासन स्थापित

3 comments:

  1. राजस्थान के शौर्य का वर्णन करते हुए सुप्रसिद्ध इतिहाससार कर्नल टॉड ने अपने ग्रंथ ""अनाल्स एण्ड अन्टीक्कीटीज आॅफ राजस्थान'' में कहा है, ""राजस्थान में ऐसा कोई राज्य नहीं जिसकी अपनी थर्मोपली न हो और ऐसा कोई नगर नहीं, जिसने अपना लियोजन डास पैदा नहीं किया हौ।'' टॉड का यह कथन न केवल प्राचीन और मध्ययुग में वरन् आधुनिक काल में भी इतिहास की कसौटी पर खरा उतरा है।

    ReplyDelete