Friday, 26 August 2011

म्हारे से डरपत नहीं चूहा


म्हारे से डरपत नहीं चूहा
सेंध चलावै छप्पर में

कैसे पतो पड़ो बणजारिन
चूंटी ना छोड़ो चून
बहिन मेरी कर दियो
छेट चपटिया में

कोठी और कुठिला में
पंसेरी कर दिये मींग
बहिन मेरी जौ की
कर दई बेजरिया

चूहा मारन मैं गई
झट्ट बिलन में जाये
बहिन मेरी मौंछ
हिलावे गिट्टे में

No comments:

Post a Comment